न्यूज शेयर करें

गया: जिले के बांके बाजार प्रखंड के शंकरपुर गांव में दो पक्षों के बीच जमीनी विवाद को लेकर एक पक्ष ने खेत में लगे गेंहू की फसल में आग लगा दी। घटना बुधवार की बताई जा रही है। पीड़ित संजय प्रसाद ने घटना के संबंध में  बताया कि 10 अप्रैल को जब वे अपने खेत में गेहूं की कटाई कर रहे थे, तभी उदय राम और उनके साथी सहित लगभग 40 से 50 लोग वहां पहुंचे और गाली-गलौज और झगड़ा करने लगे। उन्होंने धमकी दी कि अगर गेहूं ले जाने दिया जाए तो ठीक है, नहीं तो वे हिंसा पर उतर आएंगे।

इस घटना के बाद, संजय प्रसाद ने अपनी भभू किरण देवी के नाम से एक आवेदन दिया, जिसका कांड संख्या 07/2024 है। जिसके बाद थाना प्रभारी ने गेहूं काटने से रोक लगा दी, लेकिन 1 मई 2024 को सीईओ बांके बाजार तथा थाना प्रभारी लुटुआ ने आदेश दिया कि वे अपना गेहूं काट सकते हैं। उसी दिन शाम को, उदय राम और उनके साथी फिर से श्री प्रसाद के मुर्गी फार्म पर पहुंचे और धमकी दी कि वे उनके घर और मुर्गी फार्म को भी लूटेंगे। इसके बाद, उन्होंने गेहूं के खेत में आग लगा दी।

संजय प्रसाद और उनके परिवार ने आग बुझाने की कोशिश की और थाना प्रभारी लुटुआ और डीएसपी इमामगंज को सूचना दी। आग बुझाने के लिए गाड़ी आने से पहले ही कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका लेकिन तब तक 4 से 5 बीघा गेहूं जलकर राख हो चुका था। पीड़ित संजय प्रसाद ने बताया की इस घटना के बाद भी, उदय राम और अशर्फी भुइया थाना प्रभारी के सामने खड़े थे, लेकिन उन्हें भगा दिया गया। और उसके विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं किया। इस घटना से स्थानीय लोगो में भय और चिंता का माहौल है। ग्रामीणों ने अधिकारियों से तत्काल कार्रवाई और न्याय की मांग की है।

Categorized in:

Crime, MAGADH LIVE NEWS,

Last Update: May 3, 2024