Join NowTelegram & WhatsApp Group

गया में अवैध शराब के धंधे की आड़ में नकली शराब निर्माण की भी जांच करेगी पुलिस

जिस परिसर से शराब और गांजा मिला, उस जमीन की जमाबंदी आरजू खातून के नाम पर कायम

सूबे में जहरीली शराब कांड को लेकर जहां पुलिस महकमे से सरकार और विपक्षी दलों में जद्दोजहद चल रही है। इसी बीच गया में अवैध शराब कारोबार की आड़ में नकली शराब के निर्माण के भी मामले की जांच पुलिस करेगी। सोमवार को चाकन्द थाना क्षेत्र के देसिनबीघा गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग से कुछ दूरी पर एक अर्धनिर्मित एक भवन से भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब और प्रतिबंधित मादक पदार्थ गांजा पुलिस ने बरामद करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। एक गया शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र का रहनेवाला है, जबकि दूसरा गया शहर के ही विष्णुपद थाना क्षेत्र का रहनेवाला है। एसएसपी आदित्य कुमार के निर्देश पर गठित पुलिस की टीम ने पंचायती अखाड़ा मोहल्ले की रहने वाले शाहनवाज आलम उर्फ भोला मियां को तथा विष्णुपद थाना क्षेत्र के ब्रह्म स्थान मोहल्ला निवासी मो. असलम को गिरफ्तार किया है। चाकन्द थाना परिसर में सोमवार को प्रेस को उक्त जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार ने मीडिया को बताया कि जिस जगह से शराब और गांजा बरामद किया गया है, उस जगह बोतल के कैप (शराब की बोतल को बंद करने वाला) भी बरामद किया गया है। इस पर पत्रकारों ने सवाल किया कि इसका मतलब होता है कि यहां नकली शराब का निर्माण भी कराया जा रहा था क्या? जिसके जवाब में एएसपी ने कहा कि शराब बरामद की गई है, जांच कराई जाएगी। वहीं पूर्व में हुई जहरीली शराब कांड से भी इस मामले को भी जोड़कर देखा जाएगा? इस पर एएसपी स्पष्ट तौर पर कुछ भी नहीं कह सके। बहरहाल, कई पेटियों में बंद विभिन्न ब्रांड के विदेशी शराब बरामद हुई है, वहीं नशीली वस्तु गांजा भी अच्छी मात्रा में पकड़ी गई है। अब बरामद शराब नकली है या असली। यह जांच का विषय है। इधर, वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश पर नगर अंचल कार्यालय से इस बात की रिपोर्ट मांगी गई है कि जिस अर्धनिर्मित मकान और परिसर से शराब और गांजे की बरामदगी हुई है, वह जमीन किसकी है। सूत्रों की माने तो इसकी प्रारंभिक जानकारी अंचल कार्यालय से पुलिस को उपलब्ध करा दी गई है। जिसके अनुसार जमीन का जमाबंदी आरजू खातून, पति शाहनवाज आलम के नाम से कायम बताया है।

लाइव मगध वरीय संवाददाता देवव्रत मंडल