in

वजीरगंज प्रखंड के ओडियार गाँव में अपनी मां की भोज के समय बेटे की मौत, गांव में पसरा मातम

भोजन गले में फंसने के क्रम में दम घुटने से अचानक हुई मौत

वजीरगंज प्रखंड के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र ओड़ियार में रविवार को मातमी सन्नाटा पसरा रहा, क्योंकि अपनी मां के ब्रहम्भोज वाले दिन ही उसके इकलौते बेटे की मौत हो गई । गांव सहित आसपास के क्षेत्र में जिसे भी इसकी जानकारी मिली वह आह भरकर उसके मौत की चर्चा में जुटे रहे। इस दरम्यान पंचायत मुखिया पंचायत प्रकाश चौधरी ने उसके अंतिम संस्कार के लिये दो हजार रूपये उसके घर भिजवाये, वे खुद बिमार थे, जिसके कारण वे सांत्वना देने नहीं पहुंचे। मुखिया ने बताया कि ओड़ियार निवासी बसंत साव का इकलौता पुत्र 48 वर्षीय उमेश साव एक निर्धन परिवार से संबंध रखता है, वह अपने घर का सर्वेसर्वा कमाउ सदस्य था। वह अपने घर पर एक छोटा सा किराना दुकान चलाता था, जिससे उसका भरण – पोषण होता था। उसकी दो बेटियां व दो बेटे हैं। बेटियों की शादी के लिये वह अब तैयार था तथा संबंध के लिये जानकारी जुटा रहा था, ऐसे में उसकी मौत पर पूरे गांव वाले शोक में हैं। पारिवारिक लाभ सहित सरकारी एवं स्वंय स्तर से उसके परिवार को जो भी सहुलियत उपलब्ध होगा करूंगा। वहीं ग्रामीण धनंजय कुमार, पूर्व वार्ड सदस्य राजेन्द्र पासवान एवं अन्य लोगों ने बताया कि शनिवार की देर रात वह पूरे गांव एवं आगंतुकों को भोज कराने के बाद अपने परिवार के साथ भोजन करने बैठा था, तभी गले में भोजन फंस गया और दम घुटने से तुरंत उसकी मौत हो गई।

रिपोर्ट – हेमंत कुमार सिंह ,वजीरगंज संवाददाता

What do you think?

Written by Digital Desk

Leave a Reply

GIPHY App Key not set. Please check settings

आंगनबाड़ी सेविका बहाली को लेकर आयोजित बैठक में हुआ जमकर हंगामा

हत्या के आरोपी को गिरफ्तार नही पर ग्रामीणों ने गया – खिजरसराय मार्ग किया जाम