डीएम ने जनता दरबार में आए लोगों की शिकायत व समस्याओं को बारीकी से सुना, दिए निर्देश

Deobarat Mandal
Deobarat Mandal
5 Min Read

वरीय संवाददाता देवब्रत मंडल

शुक्रवार को समाहरणालय में आयोजित जनता दरबार कार्यक्रम में आए हुए फरियादियों के मामले का गया के जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम ने बारीकी से सुना। शिकायतों से संबंधित अधिकारियों को कार्यवाई करने का निदेश दिया। जनता दरबार में लगभग 300 फरियादी पहुंचे थे। जिसमें अधिकतर मामले भूमि विवाद, राशन कार्ड, दाखिल खारिज, वृद्धा पेंशन, संपत्ति बंटवारा, किसान फसल क्षति, अनुकंपा पर जॉब, सहारा कंपनी से पैसा निकासी, राजस्व कर्मचारी द्वारा कार्य में लापरवाही करने, भूदान के जमीन को कब्जा दिलवाने, किसानों से धान खरीदने, इंदिरा आवास योजना का लाभ देने, नाली निर्माण संबंधित, जर्जर सड़को को मरम्मत करवाने सहित अन्य मामले से संबंधित थे। जनता दरबार में बिहार राज्य कुष्ठ कल्याण समिति के प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व वार्ड पार्षद डॉ विनोद कुमार मंडल भी थे। जिन्होंने गया के गौतम बुद्ध कुष्ठ आश्रम सह अस्पताल में महीनों से रिक्त पड़े चिकित्सा पदाधिकारी के पद पर चिकित्सक की नियुक्ति करने की मांग की। श्री मंडल ने बताया कि बहरहाल इस अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी के पद पर एसीएमओ को लूक आफ्टर में तैनात किया गया है, जो हर समय अस्पताल में समय नहीं दे पाते हैं, जिसके कारण यहां के मरीजों को परेशानी होती है। वहीं उन्होंने रामशिला-प्रेतशिला रोड में सड़क की जर्जर हालत पर ध्यानाकृष्ट कराते हुए कहा कि एम्बुलेंस तक को इस सड़क पर बड़े बड़े गढ्ढे के कारण गुजरना मुश्किल हो चला है। जिसके मरम्मती की मांग की। जनता दरबार में कई व्यक्ति कोविड-19 मुआवजा राशि से संबंधित आवेदन दिए गए। जिलाधिकारी ने जिला आपदा पदाधिकारी तथा सिविल सर्जन को संबंधित कोविड-19 के आए हुए मामलों को जांच करते हुए आश्रितों को मुआवजा देने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निदेश दिया। विधवा पेंशन (रानी लक्ष्मीबाई पेंशन योजना तथा वृद्धा पेंशन (सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना) के मामले आने पर संबंधित व्यक्तियों को अतिशीघ्र लाभ देने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिए। कृषि विभाग अंतर्गत भूमि संरक्षण के कार्य हेतु प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना जल छाजन स्वीकृत परियोजना अंतर्गत सचिव पद का संविदा पर नियुक्ति हेतु गलत तरीके से नियोजन करने के संबंध में जिलाधिकारी को तेतर पंचायत तथा गैहलोर पंचायत के व्यक्तियों ने आवेदन दिया गया है। जिलाधिकारी ने जिला कृषि पदाधिकारी को टीम गठित कर संबंधित मामले को विस्तार से जांच कराने का निर्देश दिए।
जनता दरबार में आए हुए व्यक्ति ने बताया कि गया शहर स्थित महेश सिंह यादव कॉलेज में वह कर्मी के रूप में कार्य करते हैं परंतु कई महीनों से उन्हें मानदेय का भुगतान नहीं किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को एक टीम गठित कर महेश सिंह यादव कॉलेज का जांच करवाने का निर्देश दिए। मानपुर अंचल के व्यक्ति द्वारा आवेदन दिया गया कि निबंधन कार्यालय में जमीन की रजिस्ट्री बिना किसी कारण बताएं रजिस्ट्री नहीं किया जा रहा है जिला पदाधिकारी ने अपर समाहर्ता मनोज कुमार को यह निर्देश दिया कि बिना किसी ठोस कारण के जमीन रजिस्ट्री बंद ना करें, यह सुनिश्चित कराएं। जमीन निबंधन से संबंधित एक मामला मनीष कुमार भी लेकर पहुंचे थे। कंडी नवादा मौजा में एक प्लॉट की रजिस्ट्री को लेकर मनीष ने दिए अपने आवेदन में डीएम को बताया कि 22 अप्रैल को आयोजित जनता दरबार में भी यही फरियाद सुनने के बाद बहुत जल्द ही निबंधन के आदेश देने को लेकर संचिका के निष्पादन का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अबतक कुछ नहीं हुआ तो फिर जनता दरबार में गए थे। मनीष कुमार के मुताबिक डीएम ने अपर समाहर्ता को शीघ्र इस मामले को निष्पादित करने का निर्देश दिया है। वहीं गुरुआ अंचल क्षेत्र के आए व्यक्ति ने आवेदन दिया कि गुरुआ बस स्टैंड में काफी ज्यादा अतिक्रमण फैला हुआ है। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी गुरुवार को गुरुवा बस स्टैंड के अतिक्रमण को जांच कर हटवाने का निर्देश दिए। डुमरिया अंचल के आए व्यक्ति द्वारा बताया गया कि डुमरिया क्षेत्र के सार्वजनिक आहर को ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण कर मकान निर्माण तेजी से किया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने अपर समाहर्ता राजस्व को संबंधित अंचलाधिकारी को सरकारी जमीन खास करके आहर, पाइन, पोखर वाले जमीन में किसी प्रकार का अतिक्रमण न हो इसे सुनिश्चित करवाएं।

Share this Article
Leave a comment