in ,

इस वर्ष सितंबर महीने तक फल्गु नदी में रबर डैम बनकर हो जाएगा तैयार

रबर डैम और अबगीला में चल रहे हो वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट का डीएम ने किया निरीक्षण

वरीय संवाददाता देवब्रत मंडल

प्रोजेक्ट पर विचार विमर्श करते डीएम

डीएम डॉ त्यागराजन एसएम मंगलवार को फल्गु नदी में निर्माणाधीन रबर डैम और अबगीला में चल रहे हो वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया। रबर डैम निरीक्षण के क्रम में कार्यपालक अभियंता ने डीएम को बताया कि 60-65 मीटर के छह स्पैम बनाये जा रहे हैं। यह रबर डैम 411मीटर लंबा बनाया जा रहा है। डैम बनने से फल्गु नदी में 3 मीटर तक पानी रहेगा.कार्यपालक अभियंता ने बताया कि 45% सिविल वर्क का कार्य पूरा कर लिया गया है। रबर डैम पर 3.5 मीटर और 7.6 मीटर फुट ओवर ब्रिज बनेगा। रबर डैम बैठाने का कार्य बारिश के दिनों में भी किया जा सकेगा। ₹ 312 करोड़ की इस परियोजना को 22 सितंबर तक पूरा करने का टाइम लाइन दिया गया है। इसके बाद डीएम ने मानपुर के अबगीला में गंगा उद्वव योजना के अंतर्गत वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया। संवेदक ने उन्हें बताया कि 80% ब्लास्टिंग का काम पूरा हो चुका है।15 फरवरी तक सिविल वर्क कार्य पूरा हो जाएगा। मैकेनिकल कार्य 15 मार्च तक पूरा हो जाएगा। डीएम ने कहा कि काम बहुत की गति धीमी है,इसमें तेजी लाएं।

फल्गु नदी में निर्माणाधीन डैम का निरीक्षण करते डीएम डॉ त्यागराजन एसएम

मोहडा प्रखंड की तेतर पंचायत के घाघर में चल रहे गंगा उद्धव योजना का भी डीएम डॉ त्यागराजन एसएम ने निरीक्षण किया। कंपनी के इंजीनियर ने डीएम को बताया कि यह डैम 1200 मीटर लंबा है। इसकी ऊंचाई 34 मीटर होगी। डैम में पानी अधिक हो जाने पर उसे निकालने के लिए रास्ता भी बनाया जा रहा है। डैम का कार्य 60% पूरा कर लिया गया है। बांध की ऊंचाई के लिए उजाला मिट्टी उपलब्ध कराने का निर्देश बथानी एसडीओ और मोहड़ा बीडीओ, सीओ को दिया। परियोजना के कारण विस्थापित हुए 41 परिवारों ने डीएम से मिलकर बिजली, पानी और सडक मुहैया कराने की मांग भी रखी। विस्थापित ग्रामीणों ने डीएम से मुलाकात की। लोगों ने पानी, बिजली और शौचालय की व्यवस्था उपलब्ध कराने की मांग की। ठेकेदार द्वारा वहां टैंकर से पानी दिया जाता है। डीएम ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि उनकी समस्याएं जल्द दूर की जाएंगी। अधिकारियों को शीघ्र बिजली का कनेक्शन देने की और 20 जनवरी के पहले बोरिंग करवाने का आदेश दिया। डीएम ने मौके पर मौजूद अधिकारियों से कहा कि स्थापित नगर में एक सामुदायिक भवन और आंगनबाड़ी केंद्र भी बनाया जाएगा। ग्रामीणों ने कहा कि मुख्य सड़क तक जाने के लिए रास्ता नहीं है। इस पर डीएम ने सीओ से जमीन की मापी कर जल्द सूची देने की बात कही। साथ ही श्मशान घाट के लिए जमीन भी उपलब्ध कराने की बात कही। डीएम के साथ निरीक्षण कार्यक्रम में एडीएम (लैंड), एसडीओ सदर तथा नीमचक बथानी, डीएसपी गया तथा नीमचक बथानी, डीपीआरओ, डीसीएलआर सदर तथा संबधित प्रखंडों के बीडीओ, सीओ एवं अन्य पदाधिकारी, अभियंता तथा संवेदक उपस्थित थे।

What do you think?

Written by Digital Desk

Leave a Reply

GIPHY App Key not set. Please check settings

ब्रेकिंग न्यूज: कोतवाली थानाध्यक्ष मितेश कुमार को आईजी अमित लोढ़ा ने किया सस्पेंड

बारिश और ओलावृष्टि फसलें हुईं बर्बाद, भारी नुकसान से किसान परेशान