न्यूज शेयर करें

इस वक्त की बड़ी खबर गया से आ रही है, जहां एक मेडिकल प्रैक्टिशनर के घर से दर्जनों कंपनियों की नकली दवाइयों का भंडार बरामद किया गया है। मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मस्तलीपुर की है जहां से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का बड़ी संख्या में नकली इंजेक्शन बरामद किया गया है। खास बात यह है कि नकली दवा पर फाइजर कम्पनी का रैपर लगा कर बेचा जा रहा था। इसके अलावा अन्य बड़ी कम्पनी की भी नकली दवाइयां व कफ सिरफ बरामद की गई है। बरामद की गई नकली दवाइयों की मुफस्सिल थाना परिसर में गिनती चल रही है। नकली दवा की बरामदगी क्लाइंट कम्पनी ने मुफस्सिल पुलिस के सहयोग से की है। कम्पनी के मैनेजिंग डायरेक्टर मुस्तफा हुसैन ने बताया कि बहुत दिनों से शिकायत मिल रही थी कि हाई एंटीबायोटिक, कैंसर व किमोथेरेपी में इस्तेमाल होनी वाली बेहद महंगी दवाइयां का नकली प्रोडक्ट गया जिले में तैयार कर बेचा जा रहा है।

काफी छानबीन के बाद पता चला कि नकली दवाइयां मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मस्तलिपुर गांव में एक मेडिकल प्रैक्टिशनर के यहां तैयार की जा रही है। इस पर मुफस्सिल पुलिस के सहयोग से मेडिकल प्रैक्टिशनर रामप्रवेश यादव के घर पर छापेमारी की गई तो वहां से भारी मात्रा में नकली दवाइयां बरामद की गईं। उन्होंने बताया कि विष्णुपद के पास स्थित रिया इंटरप्राइजेज मेडिकल शॉप के मालिक अमित कुमार की इस धंधे में संलिप्तता प्रमाण सहित उजागर हुई है। जिसे झुठलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने बताया कि संबंधित मामले में मेडिकल प्रैक्टिशनर रामप्रवेश यादव व रिया इंटरप्राइजेज के मालिक अमित यादव के खिलाफ कंपनी की ओर से नकली दवा तैयार कर बेचने और लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने की केस दर्ज कराया जा रहा है।

Categorized in:

Crime, Gaya,

Last Update: October 18, 2023